Sunday, April 21, 2024
HomeFashionअब न होगी अफीम की मनुहार ओर न शादी में होगे डीजे...

अब न होगी अफीम की मनुहार ओर न शादी में होगे डीजे व हल्दी रस्म नशे व महंगी शादी समारोह के खिलाफ जागरूकता

पाली : धनला गांव में समाज को अफीम व डोडा पोस्त मनुहार मुक्त करने के लिए नशा मुक्ति एवं समाज सुधार अभियान को 17 साल से अधिक समय हो गया हैं, इसमें प्रवासी स्थानों सहित मारवाड़ में परगना समितिवार बैठकें कर जागरूकता पैदा करने के लिए भरसक प्रयास किये गये, इससे धीरे धीरे समाज में जागरूकता बढी ओर अब लोग स्वेच्छा से अपने अपने गावों व आयोजनों को नशे की मनुहार से मुक्त रखने लग गये।


इसी कड़ी में आज दि.25.04.2023 को नशा मुक्ति एवं समाज सुधार को लेकर नई बडेर धनला में सीरवी समाज की मिटिंग सीए चुन्नीलालज लचेटा की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। इसमें जगदीशसिंह बर्फा , ताराराम बर्फा , दलाराम देवड़ा, ढलाराम चोयल, सजाराम बर्फा, चुन्नीलाल, विरमराम, लखाराम लचेटा, नगाराम सोलंकी, चिमनाराम काग, छौगालाल चोयल, नारायण चोयल व वेनाराम भायल आदि बहुत से गणमान्य लोग उपस्थित थे। इस मिटिंग में विस्तृत चर्चा कर निम्नलिखित निर्णय सर्वसम्मति से पास किया गये :- शादी ब्याह, मौत मरतंग , दशोटन या किसी प्रकार का सामाजिक प्रसंग पर अफीम व डोडा / तजारा सहित शराब की मनुहार पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। आजु बाजु के घर में जाकर भी उन चीज़ों का उपयोग नहीं होगा।, शादी ब्याह में प्रीवेडिंग सूटिंग, हल्दी रस्म व दुल्हे के दाढ़ी रखने पूर्ण रोक रहेगी।, शादी में बन्दोली पर डीजे का उपयोग सिर्फ़ दुल्हा दुल्हन के घर के सामने ही कर सकेगा।

शादी ब्याह या किसी भी सामाजिक प्रसंग पर ढोल पर पैसों की चढ़ाई/ उंआणी नहीं होगी।, बेबी बंम (लड़की के मुर्हत पर भेजने के समय ) फ़िज़ूल विडीयो तथा अनावश्यक फ़ोटोग्राफ़ी, कपडे, गिफ़्ट आर्टीकल्स पर पूरी रोक रहेगी।, पीहर/ बेटी वाले कभी भी साद लेकर नहीं जायेंगे। यह नई कुरिती व प्रथा चालु हुई है उस पर पूर्ण विराम रहेगा। *उक्त सभी निर्णय सर्वसहमति से लिये गये है इसलिए कोई भी इनका उल्लंघन करने पर समाज का दोषी ठहराया जायेगा व समाज के अग्रणी महानुभावों द्वारा ऐसे कार्यक्रमों का सामूहिक बहिष्कार किया जायेगा।

अफीम मनुहार सहित शादी से सम्बंधित आयोजनों में अनावश्यक खर्च पर पूरी रोक लगने से गरीब व मध्यम वर्गीय परिवारों को बहुत राहत मिलेगी तथा अब नये नशेड़ी भी नहीं बनेंगे तथा युवा पीढ़ी भी अफीम की ओर आकर्षित नहीं होगी। समाज में अब धीरे धीरे नशे व मंहगी शादी समारोह के खिलाफ जागरूकता पैदा हो रही है। ये जानकारी गोपाराम पंवार राष्ट्रीय समन्वयक नशा मुक्ति एवं समाज सुधार अभियान द्वारा दी गई।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments