Friday, April 12, 2024
HomeAstrologyब्रह्मधाम तीर्थ आसोतरा में संत खेतारामजी पुण्यतिथि पर श्रद्धा का रेला हिलोरे...

ब्रह्मधाम तीर्थ आसोतरा में संत खेतारामजी पुण्यतिथि पर श्रद्धा का रेला हिलोरे लेता आया नजर

विश्व प्रसिद्ध खेतेश्वर ब्रह्मधाम तीर्थ आसोतरा में श्रद्धा का रेला हिलोरें लेता हुआ नजर आया।में गादीपति तुलसारामजी महाराज व महंत निर्मलदासजी महाराज के सानिध्य में ब्रह्माजी मंदिर का 39वां दो दिवसीय पाटोत्सव व खेतेश्वर महाराज की पुण्यतिथि हर्षोल्लास से मनाई गई। आयोजन को लेकर क्षेत्र के साथ ही देशभर से हजारों भक्त-भाविक ब्रह्मधाम तीर्थ पहुंचे। भक्तों ने मंदिर में दर्शन के साथ ही गुरु महाराज से आशीर्वाद लिया। साथ ही धार्मिक अनुष्ठान में बढ़-चढ़कर भाग लिया। आयोजन को लेकर मंदिर की सजावट की गई।

मंदिर में विराजित प्रतिमाओं का नवीन वस्त्रों व आभूषणों से श्रृंगार किया गया। मंदिर पाटोत्सव के उपलक्ष्य में ध्वजारोहण नारायणसिंह थापन की ओर से किया गया। इसके साथ ही विश्व शांति महायज्ञ में आहुतियां अर्पित की गई। पुण्यतिथि के उपलक्ष्य में बुधवार को बड़ी तादाद में भक्त-भाविक पहुंचे। इस दिन ध्वजा का लाभ खेतसिंह मवड़ी ने लिया। खेतारामजी की समाधिस्थल व आयोजित कार्यक्रम में विभिन्न स्थानों से पहुंचे साधु-संतों व भक्तगणों ने पुष्पांजलि अर्पित की। रात्रि को भजन संध्या का आयोजन हुआ।

भजन संध्या में विभिन्न गायक कलाकारों ने प्रस्तुति दी। पुष्पांजलि कार्यक्रम के बाद प्रवचन सभा में गादीपति तुलसारामजी महाराज ने कहा कि समाज में आपसी प्रेम भाव के साथ मिलजुल कर रहे। गोसेवा में भी अपना अमूल्य योगदान दे। जीवन में एक-दूसरे से आपसी स्नेह व भाईचारा रखकर सत्कर्म करे। वेदांताचार्य डॉ. ध्यानारामजी महाराज ने कहा कि समाज बंधु कुलगुरु खेतारामजी महाराज के बताए मार्ग पर चले। संगठन में ही शक्ति होती है। ट्रस्ट महामंत्री बाबूलाल कालूड़ी ने समाज में हुए विकास कार्यों की जानकारी दी। संचालन रामसिंह बोथिया ने किया।

मनुष्य जीवन अमूल्य है। इसका महत्व समझते हुए ईश्वर नाम का स्मरण करें व प्राणी मात्र की सेवा करें। यह बात संत तुलसारामजी ने कही। वे श्री खेतेश्वर ब्रह्मधाम तीर्थ के संस्थापक संत खेतारामजी की पुण्यतिथि के अवसर पर उद्बोधन दे रहे थे। उन्होंने कहा कि छोटे बड़े सभी के साथ एक समान व्यवहार करते हुए प्रेम से जीवन यापन करें। माता-पिता, गुरुजनों का सदैव सम्मान करें। उनकी आज्ञा का पालन करें। वहीं गो सेवा व गो रक्षा करें। न्यास के महामंत्री बाबूलाल राजपुरोहित कालूड़ी ने बताया कि तीर्थ गादीपति ने संतों को दक्षिणा भेंट की। कार्यक्रम में पचपदरा विधायक मदन प्रजापत, सिवाना विधायक हमीरसिंह भायल, रीको चेयरमैन सुनील परिहार, सिवाना प्रधान मुकनसिंह राजपुरोहित, भाजपा के वरिष्ठ नेता अमराराम चौधरी, शंकरसिंह राजपुरोहित, कांग्रेस नेता महावीर सिंह सुकरलाई, धानसिंह भीनमाल, रालोपा नेता थानसिंह डोली, भाजपा किसान मोर्चा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य गोविंद सिंह राजपुरोहित कालूड़ी व भाजपा नेता कांतिलाल जसोल सहित बड़ी संख्या में प्रबुद्धजन व हजारों श्रद्धालु मौजूद थे। न्यास के कोषाध्यक्ष रामसिंह राजपुरोहित बोथिया ने आभार ज्ञापित किया।

आदि गुरु शंकराचार्य जयंती व खेतेश्वर महाराज की पुण्यतिथि मनाई गई

इसी तरह शहर के निजी रिसोर्ट में आदि गुरु शंकराचार्य जयंती व खेतेश्वर महाराज की पुण्यतिथि मनाई गई। कार्यक्रम की शुरुआत कनाना मठ महंत परशुरामगिरीजी महाराज, जनसेवक गोविंदसिंह राजपुरोहित कालूड़ी व वरिष्ठ पत्रकार चंद्रप्रकाश ने दीप प्रज्वलित कर किया। महंत ने बताया कि शंकराचार्य की जीवनी के बारे बताया कि छोटी उम्र में संन्यास लिया व भारतवर्ष में चोरों दिशाओं में चार मठों की स्थापना की। इस अवसर पर कांतिलाल राजपुरोहित ने आदि गुरु शंकराचार्य जयंती व महापुरुष खेतेश्वर महाराज को भोग लगाया व प्रसादी वितरित की।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments