Tuesday, July 16, 2024
HomeCrimeत्र्यंबकेश्वर मंदिर में श्रद्धालुओं से मारपीट के आरोप में तीन सुरक्षाकर्मियों के...

त्र्यंबकेश्वर मंदिर में श्रद्धालुओं से मारपीट के आरोप में तीन सुरक्षाकर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज

नासिक से महज 30 से 35 किमी दूर स्थित त्र्यंबकेश्वर मंदिर को बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक माना जाता है। भक्तों का यह भी मानना ​​है कि इस स्थान पर कुशावर्त झील में स्नान करने से पाप धुल जाते हैं। इस मंदिर का भी एक लंबा इतिहास है। मंदिर के बारे में किंवदंतियाँ भी हैं। वहीं त्र्यंबकेश्वर मंदिर में सुरक्षा गार्डों पर श्रद्धालुओं के साथ मारपीट करने का आरोप है। एक परिवार इस स्थान पर आया था। इस जगह पर उनके साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया जाता था। उल्टा दुर्व्यवहार आरोप है कि उन्हें पीटा गया और धक्का दिया गया। यह आरोप सूर्यवंशी परिवार ने लगाया है। हम इस मामले के बारे में क्या जानते हैं?

“हम चारों मंदिर गए। हम सभी इस मंदिर में गए क्योंकि मैंने चारधाम किया था। हमने मंदिर के एक दादा (सुरक्षा गार्ड) से कहा कि हम एक बोतल भरना चाहते हैं। उसने जवाब दिया नहीं। इसके बाद हमने बोतल वापस ले ली. चलो हेलो कहते हैं। मेरा बेटा नमस्ते कहने के लिए नीचे झुका और सुरक्षा गार्डों ने उसे धक्का दे दिया। दो सेकंड में धक्का दे दिया। हमारे दर्शन भी अच्छे से नहीं हुए. मैं अपने पोते के पीछे था। मैंने किसी को कुछ भी धकेलते हुए नहीं देखा। जैसे ही मैं नीचे गिरा, मैंने देखा कि मुझे पीछे से झटका लगा है इससे मेरे सिर पर बहुत चोट लगी। दाहिनी ओर भी दर्द होता है। तो सूर्यवंशी आंटी ने कहा। (Trimbakeshwar Temple )

“मैं बस उन सुरक्षा गार्डों से कह रहा था कि आप चिल्लाओ मत और गाली मत दो। उन्होंने मंदिर में ही हमारे साथ दुर्व्यवहार किया। तब मैंने उसे ये बात बताई। इसके बाद तीन-चार गार्डों ने हमें बाहर बुलाया और मेरे बेटे की पिटाई की। मैं उनसे कह रहा था कि वे इस तरह का व्यवहार न करें। मेरी पत्नी लेटी हुई थी। पोता रोने लगा। वह अन्य भक्तों से भी कह रहे थे कि सभी लोग परेशानी पैदा कर रहे हैं। मेरे बेटे यानी महेंद्र को सुरक्षा गार्डों ने पीटा था।

क्या है महेंद्र सूर्यवंशी का आरोप?
“सुरक्षा गार्ड मेरे साथ हाथापाई कर रहे थे। उन्होंने मुझ से कहा, क्या यह मन्दिर तुम्हारे पिता का है? मैंने कहा ये कोई भाषा नहीं है। लेकिन बहस शुरू हो गई थी। फिर उन्होंने मुझे पीटा। इस मामले में सीसीटीवी फुटेज की जांच की जानी चाहिए। जब मैं पुलिस स्टेशन गया तो मेरे सामने कई लोग थे। मेरा एकमात्र सवाल यह है कि सुरक्षा गार्डों को भक्तों को मारने का अधिकार किसने दिया? भक्त मार खाने आते हैं या आशीर्वाद लेने आते हैं?” ये सवाल पूछा है महेंद्र सूर्यवंशी ने। सूर्यवंशी परिवार ने ये आरोप ने लगाए हैं। (Trimbakeshwar Temple)

पुलिस और मंदिर प्रशासन ने क्या कहा?
पुलिस ने बताया है कि घटना रविवार सुबह 11 बजे के बीच की है। उन्होंने यह भी बताया है कि सूर्यवंशी परिवार की ओर से शिकायत की गई थी। इस बारे में मंदिर प्रशासन ने कुछ नहीं कहा है। मंदिर प्रशासन ने कहा कि हमारे पास कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई गई है, परिवार पुलिस के पास गया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments